सर्दियों के लिए छत्ते तैयार करना

सर्दी के लिए छत्ते की तैयारी — सर्दियों के लिए छत्ते कैसे तैयार करें

मधुमक्खियों के लिए सर्दी का मौसम सबसे कठिन होता है, और विशेष रूप से यदि मधुमक्खी पालक छत्तों को सही से तैयार नहीं करता तो यह ज्यादा मुश्किल हो जाता है। वर्ष के इस समय के दौरान सबसे ज्यादा नुकसान होता है। बसंत और गर्मी के समय में कालोनियों का सफल विकास और शहद उत्पादन ज्यादातर पिछली सर्दी में उनकी तैयारी और मधुमक्खियों के उचित पालन-पोषण से जुड़ा होता है। कुछ मधुमक्खी पालक दावा करते हैं कि कठोर सर्दी के दौरान कालोनियों का 20-40% नुकसान सामान्य होता है, इसलिए इस नुकसान से हताश ना हों। आपके लिए प्रतिक्रियाशील होने के बजाय पहले से सक्रिय रहना बेहतर होता है।

स्थान के आधार पर सर्दी में मधुमक्खी के छत्ते की तैयारी में बहुत अधिक अंतर आता है। कोई भी आपको 100% सटीक सलाह नहीं दे सकता, जब तक कि उसने अपने विशेष क्षेत्र में वर्षों तक एक सक्रिय मधुमक्खी पालक के रूप में समय व्यतीत नहीं किया है। लेकिन, हम मधुमक्खी पालकों की सबसे सामान्य गतिविधियों और सावधानियों को सूचीबद्ध करेंगे, जिनमें से ज्यादातर पतझड़ से शुरू होती हैं (ज्यादातर क्षेत्रों में सितम्बर-अक्टूबर):

  1. सर्दियों के दौरान, हमें अपने छत्तों को धूपदार और तेज हवा से सुरक्षित, पानी की अच्छी निकासी वाले क्षेत्रों में ले जाना पड़ सकता है। यदि आप उन्हें अपने स्थान से हटाते हैं तो उन्हें रखने के लिए प्रारंभिक स्थान से कम से कम 3 मील (4.8 किमी) की दूरी वाले किसी स्थान का चुनाव करें, क्योंकि, यदि आप पुनः स्थापन के तरीके लागू नहीं करते तो खाना ढूंढने के लिए निकली मधुमक्खियां भ्रमित होकर वापस अपने प्रारंभिक स्थान पर लौट सकती हैं।
  2. पतझड़ (ज्यादातर क्षेत्रों में सितम्बर-अक्टूबर) के दौरान दीमकों की जांच करें। यदि दीमकों की संख्या बढ़ रही है तो आपको बड़े कदम उठाने की जरुरत पड़ सकती है (स्थानीय विशेषज्ञ से बात करें)। सर्दियों के दौरान, प्रकृति जानबूझकर कालोनी में मधुमक्खियों की संख्या कम करती है, ताकि कालोनी को कम ऊर्जा की जरुरत पड़े और उनके बचने की संभावना ज्यादा हो। लेकिन, दीमकों की संख्या में उसी दर से कमी आना संभव नहीं है। यदि आप यह चरण छोड़ते हैं तो सर्दियों के दौरान आपके पास मधुमक्खियों से ज्यादा दीमकों की संख्या हो सकती है।
  3. छत्ते का मानक निरीक्षण करें और छत्ते में नयी और उत्पादक रानी की मौजूदगी का पता लगाएं। पतझड़ के दौरान अच्छे विकास के लिए और सर्दियों के दौरान कालोनी के बचे रहने के लिए युवा और अच्छी तरह से विकसित होने वाली रानी का होना जरुरी होता है। पतझड़ के दौरान, रानी कई अंडे देती है, जिससे हज़ारों की संख्या में कर्मचारी मधुमक्खियां निकलती हैं। बसंत ऋतु के दौरान निकलने वाले कर्मचारियों के विपरीत, जो औसतन 6 सप्ताह जीवित रहती हैं, ये कर्मचारी औसतन 4-5 महीने जीवित रहेंगी और छत्ते एवं रानी को गर्म रखने का भारी काम करेंगी। पतझड़ के अंतिम समय के दौरान, रानी आनुवांशिक रूप से अगले बसंत तक अंडे देना बंद करने के लिए बनी होती है, इसलिए पतझड़ के दौरान उसकी अंडे देने की क्षमता कालोनी के बचने के लिए शायद सबसे महत्वपूर्ण कारक होती है। यदि आप देखते हैं कि वह अपना काम ठीक से नहीं कर रही है तो आपको उसे जल्दी से जल्दी बदलना पड़ सकता है।
  4. नियमानुसार, ज्यादा और कठोर सर्दी वाले क्षेत्रों में, हमें आमतौर पर छत्ते में मधुमक्खियों की संख्या की तुलना में कम स्थान की जरुरत पड़ती है। हमारा उद्देश्य मधुमक्खियों की संख्या की तुलना में कम स्थान बनाना होता है, ताकि मधुमक्खियों को अपना स्थान गर्म रखने के लिए कम ऊर्जा की जरुरत पड़े। इसके अलावा, इस प्रकार, घुसपैठियों के लिए स्थान कम होगा और वे छत्ते के अंदर प्रवेश नहीं करेंगे। ज्यादातर मधुमक्खी पालक पतझड़ के अधिकांश दिन बीतने के बाद सभी खाली डब्बों को हटा देते हैं।
  5. कमजोर कालोनियों के साथ मजबूत कालोनियों का संयोजन बनाएं। मधुमक्खी पालकों की एक पुरानी कहावत के अनुसार, बसंत ऋतु में 4 मरी हुई कालोनियों के बजाय 2 मजबूत कालोनियां होना बेहतर होता है। वर्ष के इस समय में (पतझड़) आपको कमजोर कालोनियों के साथ मजबूत कालोनियों को संयोजित करना पड़ सकता है (कभी भी दो कमजोर कालोनियों को ना मिलाएं)।
  6. उन फ्रेमों को हटा दें जिसका शहद खत्म नहीं हुआ है, क्योंकि इसकी वजह से मधुमक्खियों को पेचिश हो सकता है।
  7. खाने के भंडार की नियमित रूप से जांच करें। मधुमक्खियों को सर्दी के दौरान खिलाने के लिए सबसे अच्छा आहार उनके द्वारा उत्पादित और संग्रहीत शहद होता है। सर्दियों के दौरान आवश्यक शहद की न्यूनतम मात्रा के संबंध में बहुत सारे विवाद हैं। मधुमक्खी पालक सामान्य जलवायु वाले स्थानों में हर छत्ते में 44 पाउंड (20 किलो) से लेकर ज्यादा कठोर सर्दी वाले स्थानों में 130 पाउंड (60 किलो) से भी ज्यादा भोजन डालते हैं। यह उपभोग सर्दी की अवधि से बहुत अधिक प्रभावित होता है। कई मधुमक्खी पालक प्रसिद्ध चीनी की चाशनी का प्रयोग करते हैं, जो घर के बने 2 भाग चीनी और 1 भाग पानी का मिश्रण होता है, जिसमें कभी-कभी थाइम का तेल डाला जाता है (स्थानीय विशेषज्ञों से पूछें)। अन्य मधुमक्खी पालक विशेष कलाकंदों का प्रयोग करते हैं। कृपया इस बात का ध्यान रखें कि इन सभी चाशनियों और कलकंदों को छत्तों के अंदर सावधानीपूर्वक रखा जाए, क्योंकि इसकी वजह से अन्य कीड़े और शिकारी भी आकर्षित हो सकते हैं। कुछ मधुमक्खी पालक बताते हैं कि दुर्लभ मामलों में वो सर्दियों के दौरान मधुमक्खियों को भूखे मरने से बचाने के अंतिम उपाय के रूप में, छत्ते के अंदर 5 पाउंड (2.2 किलो) दानेदार चीनी डाल देते हैं। कनाडा में, जहाँ तापमान अक्सर -22 डिग्री फॉरेनहाइट (-30 डिग्री सेल्सियस) के नीचे चला जाता है, ऐसी स्थिति में कुछ मधुमक्खी पालक 50 पाउंड (22 किग्रा) चीनी छत्ते के अंदर डाल देते हैं। कृपया ध्यान रखें, अतिरिक्त पदार्थों वाली चीनी से मधुमक्खियों को पेचिश हो सकता है। 5 फ्रेम वाले कमजोर छत्ते के लिए, सर्दी के दौरान लगभग 3 पाउंड (1.3 किग्रा) भोजन 2 सप्ताह के लिए पर्याप्त होता है। पराग भी आवश्यक है, इसलिए यदि छत्ते में इसकी पर्याप्त मात्रा नहीं होती तो कई मधुमक्खी पालक पराग के पाउडर के साथ कैंडी मिश्रण का प्रयोग करते हैं।
  8. लम्बी और कठोर सर्दी वाले स्थानों में, छत के आतंरिक भाग पर एक बड़ा शुगर पाई रखना लाभदायक होता है (यह पर्याप्त मात्रा में खाद्य भंडार की उपस्थिति सुनिश्चित करता है और सर्दियों से रक्षा करता है)।
  9. छत्ते के प्रवेशद्वारों को बंद करें (विशेष रूप से निचले प्रवेश द्वारों को) ताकि चूहे और अन्य जानवर इसमें प्रवेश ना कर सकें। लेकिन, मधुमक्खियों को जीने के लिए अच्छे वायु-संचार की जरुरत पड़ती है, इसलिए आपको एक छोटी खिड़की खुली छोड़ देनी चाहिए। आप चूहों से सुरक्षा के लिए विशेष तार वाली जाली प्रयोग कर सकते हैं। कई मधुमक्खी पालक ऊपरी प्रवेशद्वार भी बंद कर देते हैं।
  10. तेज हवाओं वाले क्षेत्र के मामले में, आप ऊपरी भाग पर भारी पत्थर रख सकते हैं ताकि छत्ता अपने स्थान से ना हिले।
  11. कई मधुमक्खी पालक अपने छत्तों को विशेष टार पेपर या साधारण रूफ पेपर से ढंककर भी सुरक्षित रखते हैं। निश्चित रूप से, ऐसा करते समय वे एक उचित प्रवेशद्वार छोड़ देते हैं, क्योंकि मधुमक्खियों के लिए अच्छा वायु संचार आवश्यक है। हालाँकि, कुछ जलवायु में इस तरीके के कारण छत्ते के अंदर नमी में तेजी से वृद्धि हो सकती है। स्थानीय मधुमक्खी पालकों से सलाह मांगें और पता करें कि अन्य मधुमक्खी पालक अपने छत्तों को ढंकते हैं या नहीं।
  12. चाहे आप कितने भी चिंतित क्यों ना हों, सर्दी के ठंडे दिनों के दौरान छत्ता ना खोलें। क्योंकि ऐसा करने पर इसमें से गर्मी तेजी से बाहर निकलेगी और दोबारा उतनी ही गर्मी उत्पन्न करने के लिए मधुमक्खियों को ज्यादा मेहनत और ऊर्जा की जरुरत होगी। समझदारी दिखाएं। एक मिनट से भी कम समय के लिए इसे खोलें और वो भी केवल तब जब तापमान एक निश्चित स्तर से ऊपर होता है (स्थानीय विशेषज्ञों से पूछें)।
  13. छत्तों के आसपास के क्षेत्र की नियमित रूप से जांच करना और वहां से कूड़े-कचरे एवं अनचाहे घास-फूस को साफ करना अच्छा विचार होता है। उदाहरण के लिए, यदि छत्तों के आसपास कोई बिल्ली, छोटा साही या रैकून मर जाता है और इसे यदि नहीं हटाया गया तो इसकी महक निश्चित रूप से कालोनी में कई अनचाहे शिकारी (चूहे, कीड़े आदि) आकर्षित कर सकती है। आसपास का साफ-सुथरा स्थान स्वच्छता सुनिश्चित करता है और संभावित घुसपैठियों को कोई आश्रय नहीं मिलता है। यह वर्ष भर के लिए लागू होता है, लेकिन सर्दियों के दौरान कालोनियों में अनचाहे जानवरों के घुसने की संभावना ज्यादा होती है।

आप सर्दियों के दौरान अपने छत्ते की तैयारी के तरीकों के बारे में टिप्पणी प्रदान करके या तस्वीर डालकर इस लेख को ज्यादा बेहतर बना सकते हैं।

नए लोगों के लिए मधुमक्खी पालन

शहद निर्माण करने वाली मधुमक्खियों की समाज संरचना और संगठन

मधुमक्खियों द्वारा शहद कैसे बनाया जाता है

छत्ता और आवश्यक उपकरण

छत्ते की स्थिति और स्थान नियोजन

मधुमक्खियों को कैसे खिलाएं

मधुमक्खियों के छत्ता छोड़ने की गतिविधि को समझना और नियंत्रित करना

सर्दियों के लिए छत्ते तैयार करना

शहद का संग्रह

मधुमक्खियों की सामान्य बीमारियां और कीट

प्रमुख मधुमक्खी कीट

मधुमक्खियों की प्रमुख बीमारियां

कीटनाशकों से मधुमक्खियों में विषाक्तता

मधुमक्खियों से संबंधित प्रश्न और उत्तर

क्या आपके पास मधुमक्खी पालन का अनुभव है? यदि हाँ तो कृपया नीचे टिप्पणियों में अपने अनुभव, विधियों और कार्यप्रणालियों के बारे में बताएं।

आपके द्वारा जोड़ी गयी सभी सामग्रियों को जल्दी से जल्दी हमारे कृषि विशेषज्ञों द्वारा जांचा जायेगा। और स्वीकृत होने के बाद, उन्हें Wikifarmer.com पर डाल दिया जायेगा, जिससे दुनिया भर के हज़ारों नए और अनुभवी किसान सकारात्मक रूप से प्रभावित होंगे।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية Türkçe 简体中文 Русский Italiano Ελληνικά Português Tiếng Việt Indonesia 한국어

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।