संतरे के पेड़ की खाद संबंधी जरूरतें

How to start an Orange Orchard

सिट्रस के पेड़ों में खाद कैसे डालें

संतरे के पेड़ों की नाइट्रोजन, फॉस्फोरस, पोटैशियम और कैल्शियम की कुछ खास जरूरतें होती हैं। कुछ सूक्ष्म तत्व भी आवश्यक हैं (आयरन, बोरान, मैग्नीशियम, एल्यूमीनियम, मैंगनीज, जस्ता और तांबा)। नाइट्रोजन की कमी से पेड़ की उम्र धीरे-धीरे कम होने लगते हैं और पेड़ की पत्तियां भी पीली पड़ने लगती हैं, समय से पहले पत्ते गिर जाते हैं और उत्पादन में कमी आती है। हालाँकि, पेड़ की आयु, किस्म और फल के उपयोग (रस उत्पादन या खाने वाले संतरे) के आधार पर, इसकी जरूरतें काफी अलग-अलग होती हैं।

हम यह कह सकते हैं कि संतरे के पेड़ को हर साल प्रति हेक्टेयर 260 से 440 पाउंड (120 से 200 किग्रा) नाइट्रोजन, प्रति हेक्टेयर 67 से 100 पाउंड (30 से 45 किग्रा) फॉस्फोरस और प्रति हेक्टेयर 130 से 330 पाउंड (60 से 150 किग्रा) पोटैशियम की जरूरत होती है। ध्यान रखें कि 1 टन = 1000 किग्रा = 2.200 पाउंड और 1 हेक्टेयर = 2,47 एकड़ = 10.000 वर्ग मीटर।

सामान्य परिस्थितियों में, प्रति हेक्टेयर 260 से 440 पाउंड (120-200 किग्रा) नाइट्रोजन फायदेमंद हो सकता है (अपने क्षेत्र में किसी लाइसेंस प्राप्त कृषि विज्ञानी से पूछें)। संतरे के किसान अक्सर लगातार 4-5 साल तक बड़े पेड़ों में 5,5-7,7 पाउंड (2,5-3,5 किलोग्राम) P2O5 डालते हैं। कई मामलों में, वे लगातार दो साल तक हर बड़े पेड़ में 3,3-6,6 पाउंड (1,5-3 किग्रा) K2O भी डाल सकते हैं। वसंत के समय खाद डालना सबसे अच्छा होता है। हालाँकि, ये केवल सामान्य पैटर्न हैं जिनका पालन अपना खुद का शोध किये बिना नहीं किया जाना चाहिए।

टेबल ऑरेंज के लिए लगाए गए बड़े पेड़ों के लिए एक अन्य पैटर्न में हर साल मुख्य रूप से 3 बार खाद डालना शामिल होता है। किसान सर्दियों के अंत (फरवरी) में खाद डालना शुरू करते हैं, जब वे प्रत्येक पेड़ के लिए एन-पी-के 12-12-17 के समान 4.4 से 6.6 पाउंड (2-3 किलो) टॉप ड्रेसिंग डालते हैं। दूसरी बार फल लगने के दौरान (वसंत में देर से, मई-जून) खाद का प्रयोग किया जाता है। उस समय, पौधों को केवल नाइट्रोजन और पोटैशियम देते हुए, प्रत्येक पेड़ में 2.2 से 4.4 पाउंड (1-2 किग्रा) खाद डालते हैं। इस चरण पर खाद के रूप में ज्यादा नाइट्रोजन डालने से बचना चाहिए, क्योंकि इसकी वजह से ब्लास्टोमेनिया हो सकता है और जिससे पेड़ों पर फल लगना बंद हो जायेंगे। अंतिम बार खाद तब डाला जाता है जब फल तेजी से बढ़ते हैं (आमतौर पर गर्मियों में देर से, जुलाई-अगस्त)। इस चरण पर, उत्पादक हर पेड़ में 2.2 से 4.4 पाउंड (1-2 किग्रा) खाद डालते हैं। फल बढ़ने के चरण में खाद डालने का उद्देश्य फल का आकार और वजन बढ़ाना होता है।

आमतौर पर मिट्टी या पत्तियों के उर्वरीकरण का प्रयोग किया जाता है। फसल के विकास के महत्वपूर्ण चरणों के दौरान आयरन, मैग्नीशियम, बोरान और कॉपर की कमियों को दूर करने के लिए पत्तियों के उर्वरीकरण का प्रयोग किया जाता है। साल में कम से कम एक बार मिट्टी के पीएच की जांच की जानी चाहिए। अगर मिट्टी का पीएच 7 से ज्यादा है तो किसी लाइसेंस प्राप्त कृषि विज्ञानी से संपर्क करने के बाद आपको अम्लीकरण उर्वरक डालकर इसे सही करने की जरूरत हो सकती है।

हालाँकि, ये केवल कुछ सामान्य अभ्यास हैं जिनका पालन अपना खुद का शोध किये बिना नहीं करना चाहिए। हर खेत अलग है और इसकी जरूरतें अलग हैं। अपनी मिट्टी का साल में कम से कम एक बार परीक्षण करना, और किसी विशेषज्ञ से सलाह लेकर निवारक कार्यवाही करना उपयोगी होता है।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français العربية Português Deutsch Русский Türkçe Indonesia

Wikifarmer की संपादकीय टीम
Wikifarmer की संपादकीय टीम

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।