मुर्गियों को चारा कैसे दें

मुर्गियों को चारा देना – मुर्गियां क्या खाती हैं

जैसा कि कई मवेशी वर्गों के संबंध में होता है, यहाँ भी “चारा बनाम व्यावसायिक आहार” की बहस जारी है। “चारे” के समर्थक दावा करते हैं कि कीड़ों, कीट, रेत और छोटे पत्थरों से निर्मित चारा मुर्गियों का प्राकृतिक आहार है, जिसमें वो सभी चीजें शामिल होती हैं जिन्हें वे प्लेट पर रखकर परोसने के बजाय खुद खोजती हैं। घूमना और खाना खोजना बहुत महत्वपूर्ण है और मुर्गियों के स्वास्थ्य से अत्यधिक संबंधित है। चारे में हम पौधों की व्यापक श्रृंखला को शामिल करते हैं: घास, दूब, अल्फल्फा (मेडिकागो सैटिव), कासनी, फलियां, ब्रासिका इत्यादि। चारे की विविधता उस क्षेत्र में ग्रहण किये जाने वाले खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता से संबंधित होती है (खाद्य पदार्थ की विविधता जितनी ज्यादा होती है – यह उतना ही बेहतर होता है)। कई मुर्गी पालक इस बात का समर्थन करते हैं कि यदि वर्ष भर खेत में पर्याप्त मात्रा में चारा मौजूद होता है तो मुर्गियों को खाने के लिए चारे, फूस और मकई के दाने के अलावा कुछ और देने की जरुरत नहीं होती है। कई किसान मुर्गियों के फ्रेम का प्रयोग करते हैं क्योंकि इससे छोटे स्थान में मुर्गियों को आसानी और सहजता से ताज़ा घास दी जा सकती है। मुर्गियों के फ्रेम वास्तव में तार वाले कपड़े से सुरक्षित उभरी हुई क्यारियां होती हैं। मुर्गियां तने के ऊपरी भाग को खा सकती हैं, जबकि पौधों की जड़ें सुरक्षित रहती हैं, ताकि थोड़े दिन में पौधे दोबारा बढ़ सकें।

लेकिन, अपनी मुर्गियों को कोई अज्ञात पौधे खाने देना सुरक्षित नहीं होता है। मुर्गी पालन करते समय, आपको अपने खेत से किसी भी नाइटशेड पौधे (टमाटर, आलू, बैंगन आदि) को हटाने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसकी पत्तियां और अन्य भाग मुर्गियों के लिए जहरीले होते हैं। अन्य सजावटी पौधों (अज़ली) और झाड़ियों को भी मुर्गियों के लिए विषाक्त पाया गया है और एक छोटी पत्ती खाने पर भी उनकी जान को खतरा हो सकता है।

यद्यपि, प्रचुर और विविध वनस्पतियों वाला खेत खाने का एक बेहतरीन स्रोत है, लेकिन इस बात को ध्यान में रखें कि सर्दी के ठंडे दिनों के दौरान, इसकी बहुत संभावना होती है कि ज्यादातर समय मुर्गियां अपने दरबे से बाहर नहीं निकलेंगी, भले ही आपके खेत में बहुत सारी वनस्पति हो और भले ही आप दरबे का दरवाज़ा खुला छोड़ दें। परिणामस्वरूप, ज्यादातर मामलों में मुर्गियों को पर्याप्त प्रोटीन स्तरों और फाइबर वाला संतुलित पोषक चारा देने के लिए हमारे पास पर्याप्त मात्रा में मुर्गियों का व्यावसायिक आहार होना जरुरी होता है।

सबसे सामान्य मुर्गियों के आहारों में सोया, मकई, कपास के बीजों का मिश्रण होता है जिन्हें अक्सर अल्फल्फा के साथ मिलाया गया होता है। चूजों को स्टार्टर चारे की जरुरत होती है, जिसमें सामान्य तौर पर 20% प्रोटीन होता है और ये अक्सर कोकिडियोसिस के लिए औषधीय होते हैं। अंडे देने वाली मुर्गियों को ऊर्जा देने के लिए स्क्रैच का प्रयोग किया जाता है, जो मुख्य रूप से घास खाती हैं। स्क्रैच आमतौर पर छीले हुए भुट्टे और साबुत गेहूं से बनाया जाता है और सर्दी के मौसम में मुर्गियों को गर्म रखने के लिए उचित आहार होता है। अंडों के लिए मुर्गी पालन करते समय, अन्य चारों सहित कैल्शियम की उच्च मात्रा से युक्त दाने देना एक सामान्य प्रक्रिया है। जब हम मांस के लिए मुर्गी पालन करते हैं तो हम उनकी वृद्धि को तेज करने के लिए आमतौर पर उनके आहार (20% तक प्रोटीन वाला) में ज्यादा अनाज (गेहूं, बाजरा और ज्वार का आटा) डालते हैं।

आजकल, दाना बनाया गया चारा मुर्गी पालकों के बीच बहुत प्रसिद्ध हो गया है। इसका कारण यह है कि इस चारे से मुर्गियों को अपने प्रयोग, विकास स्तर और जरूरतों के आधार पर पोषक तत्वों का एक उचित मिश्रण प्राप्त होता है। इसलिए, मुर्गियों को बाकी के चारे को छोड़कर अपनी पसंद का चारा खाने का मौका नहीं मिलेगा। लेकिन, जो किसान अपनी मुर्गियों को दाने देते है वो भी आमतौर पर उनके आहार में थोड़ी मात्रा में अनाज शामिल करते हैं। इसका कारण यह है कि साबुत अनाज खाने से मुर्गियों के पेट का एक संवेदनशील हिस्सा सक्रिय होता है, जो मुर्गियों के स्वास्थ्य और कल्याण से संबंधित पाया गया है। इस बात को ध्यान में रखें कि जब आपकी मुर्गियां खाना नहीं ढूंढती हैं तो उनके लिए कंकरी भी जरुरी है। कंकरी (मिट्टी, रेत और कंकड़) पाचन में बहुत मदद करता है क्योंकि मुर्गियों के दांत नहीं होते हैं। यदि आपकी मुर्गियां बाहर घूमकर चारा खाती हैं तो निश्चित रूप से वे मैदान में कंकरी खाएंगी, इसलिए आपको उनके आहार में अतिरिक्त कंकरी डालने की जरुरत नहीं होती है।

अंत में, मुर्गियों के लिए दिन के 24 घंटे पानी उपलब्ध होना चाहिए। हम दरबे में और मैदान में 2-3 स्थानों पर पानी पीने के स्थिर बर्तन रख सकते हैं।

आप मवेशियों के लिए जहरीले पौधों के बारे में और अधिक पढ़ सकते हैं।

आप अपने मुर्गी के चारे के बारे में टिप्पणी या तस्वीर प्रदान करके इस लेख को ज्यादा बेहतर बना सकते हैं।

मुर्गी पालन कैसे करें

मुर्गी का दरबा – मुर्गी घर

अंडे या मांस के लिए मुर्गियों का चुनाव कैसे करें

मुर्गियों को चारा कैसे दें

मुर्गियों के अंडे का उत्पादन

मुर्गियों का स्वास्थ्य और बीमारियां

मुर्गियों के अपशिष्ट का प्रबंधन

मुर्गियों से संबंधित प्रश्न और उत्तर

क्या आपके पास मुर्गी पालन का अनुभव है? यदि हाँ तो कृपया नीचे टिप्पणियों में अपने अनुभव, विधियों और कार्यप्रणालियों के बारे में बताएं।

आपके द्वारा जोड़ी गयी सभी सामग्रियों को जल्दी से जल्दी हमारे कृषि विशेषज्ञों द्वारा जांचा जायेगा। और स्वीकृत होने के बाद, उन्हें Wikifarmer.com पर डाल दिया जायेगा, जिससे दुनिया भर के हज़ारों नए और अनुभवी किसान सकारात्मक रूप से प्रभावित होंगे।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: enEnglish esEspañol frFrançais arالعربية pt-brPortuguês deDeutsch ruРусский elΕλληνικα trTürkçe viTiếng Việt idIndonesia

Wikifarmer की संपादकीय टीम
Wikifarmer की संपादकीय टीम

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

FOLLOW US ON