मिर्च के स्वास्थ्य लाभ

मिर्च के स्वास्थ्य लाभ और पोषण मूल्य

मिर्च में बहुत सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, और उनमें से कुछ मानव स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद पाए गए हैं। इनमें से कई तत्वों को कुछ जीवनशैली से संबंधित बीमारियों का जोखिम कम करने में कारगर बताया गया है। हालाँकि, मिर्च के सेवन के अज्ञात स्वास्थ्य लाभों के बारे में बात करना ज़रूरी है। मिर्च के सेवन से लोगों को बहुत फायदा हो सकता है, क्योंकि:

इसके हृदय संबंधी लाभ होते हैं

इसमें सूजन-रोधी गुण पाए जाते हैं

अल्सर रोकता है

कैंसर से लड़ता है

दर्द से राहत देता है

त्वचा स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है

वजन घटाने में मदद करता है

हालाँकि, किसी भी अन्य खाद्य पदार्थ की तरह शिमला मिर्च और मिर्च भी संतुलित आहार के हिस्से के रूप में उचित मात्रा में ग्रहण किया जाना चाहिए।

यूएसडीए के अनुसार, 100 ग्राम कच्चे मिर्च में निम्नलिखित शामिल हैं (अन्य के अलावा):

पानी: 87.74 ग्राम

ऊर्जा: 40 किलो कैलोरी

कुल लिपिड (वसा): 0.2 ग्राम

कार्बोहाइड्रेट: 9.46 ग्राम

शर्करा, कुल: 5.1 ग्राम

फाइबर, कुल आहारिक: 1.5 ग्राम

कैल्शियम: 18 मिग्रा

मैग्नीशियम: 25 मिग्रा

पोटैशियम: 340 मिग्रा

सोडियम: 7 मिग्रा

आयरन: 1.2 मिग्रा

फॉस्फोरस: 46 मिग्रा

विटामिन A (RAE): 59 माइक्रोग्राम

विटामिन E (अल्फा-टोकोफ़ेरॉल): 0.69 मिग्रा

विटामिन C (कुल एस्कॉर्बिक एसिड): 242.5 मिग्रा

फोलेट: 23 माइक्रोग्राम

मिर्च के सेवन से हृदय की सेहत अच्छी हो सकती है।

मिर्च में पोटैशियम और विटामिन C जैसे हृदय के लिए लाभकारी तत्व पाए जाते हैं। अध्ययनों से साबित हुआ है कि सोडियम के सेवन में कमी के साथ पोटैशियम का सेवन बढ़ाने से हमारे हृदय का स्वास्थ्य बेहतर हो सकता है। इसके अलावा, मिर्च खून में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम कर सकती है, जो हृदयाघात और अन्य हृदय रोगों के कुछ सामान्य कारण हैं।

मिर्च में कैंसर-रोधी गुण हो सकते हैं।

मिर्च में एक विशेष यौगिक, केप्सेसिन, पाया जाता है, जो अध्ययनों के अनुसार, कैंसर की कोशिका से बचने, एंजियोजेनेसिस और मेटास्टेसिस में शामिल कई जीनों की अभिव्यक्ति को बदलने में मददगार बताया गया है।

मिर्च प्राकृतिक तरीके से दर्द से राहत देने में मदद कर सकता है।

आजकल, मांसपेशी के दर्द के राहत पैचों के एक घटक के रूप में केप्सेसिन का प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा, इसे ऑस्टियोआर्थराइटिस के दर्द के उपचार के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। अध्ययनों के अनुसार, त्वचा के ऊपर लगाने पर, केप्सेसिन दर्द दूर करने के लाभकारी गुण शामिल करता है।

मिर्च में सूजन-रोधी गुण हो सकते हैं।

एक बार फिर, केप्सेसिन मिर्च में मौजूद सूजन-रोधी गुणों के लिए जिम्मदार होता है।

त्वचा बेहतर बनाता है।

लाल मिर्च में मौजूद बीटा-कैरोटीन और विटामिन C जैसी एंटीऑक्सिडेंट्स त्वचा की क्षति और उम्र बढ़ने से रोक सकते है। ये शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट्स त्वचा कोशिकाओं को यूवी और फ्री-रेडिकल क्षति से बचाते हैं।

मिर्च से वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

ऐसा कोई जादुई आहार नहीं है जो किसी मेहनत के बिना आपका वजन कम करने में मदद कर सकता है। हालाँकि, कुछ शोधकर्ता दावा करते हैं कि हमारा शरीर थर्मोजेनेसिस नामक प्रक्रिया के दौरान ऊर्जा का प्रयोग करता है। तीखी मिर्च इस प्रक्रिया को बहुत अधिक बढ़ाती है। लाल शिमला मिर्च में भी ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो थर्मोजेनेसिस बढ़ाते हैं। कुछ अध्ययनों से साबित हुआ है कि मिर्च में मौजूद केप्सेसिन मेटाबॉलिज़्म बढ़ाता है और वसा को तेजी से जलाता है।

मिर्च पेट का अल्सर रोक सकता है।

हालाँकि, कई लोग यह मानते हैं कि मिर्च से पेट का अल्सर होता है, लेकिन हाल के अध्ययनों में इसका बिल्कुल उल्टा पता चला है। मिर्च में मौजूद केप्सेसिन पेट में मौजूद अम्ल को कम करके अल्सर रोकने में मददगार हो सकता है।

केप्सेसिन को पेट में बफरिंग जूस के उत्पादन में भी मददगार पाया गया है।

मिर्च और शिमला मिर्च के बारे में रोचक तथ्य

मिर्च के स्वास्थ्य लाभ

बगीचे में शिमला मिर्च और मिर्च की खेती

मुनाफे के लिए मिर्च की खेती – शिमला मिर्च और मिर्च की खेती

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية 简体中文 Русский Italiano Ελληνικά Português

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।