मधुमक्खियों के छत्ता छोड़ने की गतिविधि को समझना और नियंत्रित करना

मधुमक्खियों का झुंड में छत्ता छोड़ना

मधुमक्खी के छत्ते के प्राकृतिक प्रसार और पुनरुत्पादन को झुंड में छत्ता छोड़ने के रूप में जाना जाता है। आमतौर पर, मधुमक्खियां बसंत या गर्मियों की शुरुआत (अप्रैल-जून) में झुंड बनाकर छत्ता छोड़ती हैं। संक्षेप में, रानी मधुमक्खी अपने कुछ भरोसेमंद कर्मचारियों के साथ नए घोंसले की तलाश में मधुमक्खी पालन के स्थान को छोड़ देती है। मधुमक्खियों का यह समूह (अपने विश्वसनीय कर्मचारी मधुमक्खियों के साथ रानी मधुमक्खी) कुछ समय तक आसपास के पेड़ की शाखा पर आराम करेगा, लेकिन जल्दी ही नया छत्ता खोजकर, वहां रहना शुरू कर देगा और अपना जीवन चक्र शुरू करेगा। इसी बीच, छत्ते में पर्याप्त मधुमक्खियां और रानियों के कुछ कोष होते हैं, जिनसे नयी रानियां उत्पन्न होंगी। यदि मधुमक्खी पालक हस्तक्षेप नहीं करता तो इन रानियों में से सबसे शक्तिशाली रानी उभरकर सामने आएगी और अंत में विजयी होकर (सभी प्रतिद्वंदी रानियों को काटकर और मारकर) नए रानी बनेगी। छत्ता छोड़कर जाने की घटना के लिए मधुमक्खियों या मधुमक्खी पालक को दोष नहीं देना चाहिए। आमतौर पर, उचित स्थितियों में, मधुमक्खियां छत्ता छोड़कर उड़ने के लिए ही बनी होती हैं। इसके बिना, मनुष्यों द्वारा पाले जाने से पहले, मधुमक्खियां कभी भी हज़ारों वर्षों तक जीवित नहीं रह पातीं। हालाँकि, अनियंत्रित रूप से छत्ते से उड़ने के कारण मधुमक्खी पालक को समस्या हो सकती है, क्योंकि इससे छत्ते में मधुमक्खियों की संख्या 50% या इससे भी कम हो जाती है। नियंत्रित स्थितियों में मधुमक्खियों का छत्ते से उड़ना रोकने के लिए और इसका लाभ उठाने के लिए प्रत्येक मधुमक्खी पालक को इसके तरीकों का निरीक्षण करना चाहिए। यहाँ तक कि सबसे अनुभवी मधुमक्खी पालक भी हर साल कुछ मात्रा में मधुमक्खियों को छत्ते से जाते हुए देखते हैं।

मधुमक्खियों को छत्ता छोड़कर जाने से रोकने के कई उपाय हैं। कुछ मधुमक्खी पालक रानी के एक पंख में क्लिप लगा देते हैं ताकि यह उड़ ना सके (यह एक पुरानी तकनीक है लेकिन आज भी इसके बहुत सारे समर्थक हैं)। अन्य मधुमक्खी पालक छत्ते को दोबारा व्यवस्थित करके मधुमक्खियों की संख्या कम कर देते हैं ताकि रानी मधुमक्खी फेरोमोंस के माध्यम से कर्मचारियों से बेहतर संवाद कर सके। पुरानी रानी द्वारा फेरोमोन के निर्माण में कमी झुंड में छत्ता छोड़ने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है। जिसके कारण, कई कर्मचारी मधुमक्खियां रानी की बात नहीं सुनती हैं या उसके आदेश लेने से इंकार कर देती हैं। यह स्थिति तब और ज्यादा बुरी हो जाती है जब छत्ते के अंदर मधुमक्खियों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ जाती है और वायु-संचार के लिए पर्याप्त स्थान नहीं होता है। इसके बाद, रानी छत्ते को नियंत्रित और प्रेरित करने में असमर्थ होने के कारण हताश हो जाती है और कुछ भरोसेमंद और “निष्ठावान” कर्मचारी मधुमक्खियों के साथ एक नया छोटा समाज बनाने के लिए पुराने छत्ते को छोड़ देती है। इसलिए, एक बार फिर से, युवा (2 वर्ष तक की) और संपन्न रानी के होने से हम बहुत सारी परेशानियों से बच सकते हैं। मधुमक्खियों की संख्या बढ़ने से रोकना, जमाव से बचना और छत्ते के अंदर वायु संचार को बेहतर बनाना भी आवश्यक तकनीक हैं ताकि मधुमक्खी पालक पहले से सक्रिय रह सके और मधुमक्खियों को छत्ता छोड़ने से रोक सके।

सामान्य तौर पर, दूसरी जगह उड़कर छत्ता बनाने वाली मधुमक्खियां इतना शहद इकट्ठा नहीं करती कि उसे मधुमक्खी पालक द्वारा एकत्रित किया जा सके, ना ही ये आसपास की फसलों के लिए अच्छा परागण करती हैं। इसके अलावा, मधुमक्खी पालक के लिए मधुमक्खियों के झुंड का पता ना लगा पाने या उन्हें ना पकड़ पाने का भी जोखिम होता है। झुंड के उड़ने और इसके बाद उनका पीछा करने का इंतज़ार करने के बजाय, हम सावधानीपूर्वक नियंत्रित स्थितियों में और प्राकृतिक रूप से मधुमक्खियों के छत्ते से जाने से पहले ऐसी उचित स्थितियां बना सकते हैं जो एक कालोनी के दो में विभाजन को प्रेरित करेंगी। इस मामले में, जोखिमों से बचते हुए, कालोनी को विभाजित करके हमें नियंत्रित स्थानांतरण से लाभ होगा। हम उस छत्ते के पास एक खाली छत्ते को ध्यानपूर्वक रख सकते हैं जिसे हम बांटना चाहते हैं। हम पुराने छत्ते के आधे फ्रेम निकाल देते हैं (लेकिन रानी वाले फ्रेम को नहीं) और इसे नए छत्ते में स्थानांतरित कर देते हैं (जिसमें खुले और बंद लार्वा वाले 2 से 3 फ्रेम साथ ही साथ उसी दिन के लार्वा होने चाहिए)। यह स्थापन बाहर से अंदर की ओर होना चाहिए: शहर-पराग-लार्वा। हम नए “अनाथ” छत्ते को अपने मनचाहे स्थान पर रखकर दरवाज़ा खुला छोड़ देते हैं। पांच दिन में हम “रानी के कोषों” की जांच करते हैं और हम केवल 2 कोष छोड़ते हैं। हम खाना डालते हैं। हम देखते हैं कि पुराना छत्ता सामान्य रूप से विकसित हो रहा है या नहीं (जिसमें हमने रानी को छोड़ा था)। जाहिर तौर पर, इन दिशानिर्देशों को सरल बनाया गया है और ऐसे जटिल प्रबंधन के लिए थोड़े अनुभव की जरुरत होती है। अपने पहले विभाजन के प्रयासों के दौरान किसी अनुभवी मधुमक्खी पालक का सहयोग लेना बेहतर होता है।

आप मधुमक्खियों के स्थानांतरण के नियंत्रण के अपने तरीकों के बारे में टिप्पणी प्रदान करके या तस्वीर डालकर इस लेख को ज्यादा अच्छा बना सकते हैं।

नए लोगों के लिए मधुमक्खी पालन

शहद निर्माण करने वाली मधुमक्खियों की समाज संरचना और संगठन

मधुमक्खियों द्वारा शहद कैसे बनाया जाता है

छत्ता और आवश्यक उपकरण

छत्ते की स्थिति और स्थान नियोजन

मधुमक्खियों को कैसे खिलाएं

मधुमक्खियों के छत्ता छोड़ने की गतिविधि को समझना और नियंत्रित करना

सर्दियों के लिए छत्ते तैयार करना

शहद का संग्रह

मधुमक्खियों की सामान्य बीमारियां और कीट

प्रमुख मधुमक्खी कीट

मधुमक्खियों की प्रमुख बीमारियां

कीटनाशकों से मधुमक्खियों में विषाक्तता

मधुमक्खियों से संबंधित प्रश्न और उत्तर

क्या आपके पास मधुमक्खी पालन का अनुभव है? यदि हाँ तो कृपया नीचे टिप्पणियों में अपने अनुभव, विधियों और कार्यप्रणालियों के बारे में बताएं।

आपके द्वारा जोड़ी गयी सभी सामग्रियों को जल्दी से जल्दी हमारे कृषि विशेषज्ञों द्वारा जांचा जायेगा। और स्वीकृत होने के बाद, उन्हें Wikifarmer.com पर डाल दिया जायेगा, जिससे दुनिया भर के हज़ारों नए और अनुभवी किसान सकारात्मक रूप से प्रभावित होंगे।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية Türkçe 简体中文 Русский Italiano Ελληνικά Português Tiếng Việt Indonesia 한국어

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।