बैंगन के बारे में 8 रोचक तथ्य जिसे आपने शायद अनदेखा कर दिया होगा

बैंगन के बारे में 8 रोचक तथ्य

  1. बैंगन फाइबर और पोषक तत्वों का बेहतरीन स्रोत है।
  2. लोग इसे “एगप्लांट” इसलिए कहते हैं, क्योंकि पौधे की कुछ किस्मों से सफेद रंग के अंडाकार फल आते हैं, जिससे वे मुर्गी के अंडे की तरह दिखते हैं।
  3. बैंगन एक बारहमासी पौधा है, हालाँकि अधिकांश उत्पादक इसे वार्षिक पौधे के रूप में उगाते हैं (वे फलों को काटने के बाद जुताई करके पौधों को नष्ट कर देते हैं)।
  4. बैंगन वानस्पतिक रूप से टमाटर और मिर्च से संबंधित पौधा हैं।
  5. 5वीं शताब्दी ईसापूर्व के दौरान चीनी लोगों ने सबसे पहले व्यवस्थित तरीके से बैंगन उगाना शुरू किया था।
  6. बैंगन के फूल या पत्ते का सेवन करना मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।
  7. ऑक्सीजन रेडिकल अवशोषक क्षमता के मामले में बैंगन शीर्ष 10 पौधों में से एक है। सरल शब्दों में, यह किसी स्रोत में एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा के लिए एक मापीय है।
  8. बैंगन को यूनाइटेड किंगडम में अंग्रेज़ी में ऑबर्जिन और एशिया के कुछ हिस्सों में ब्रिंजल कहा जाता है।

बैंगन एक बारहमासी पौधा है, लेकिन अधिकांश किसान इसे वार्षिक पौधे के रूप में उगाते हैं। बैंगन भारत से उत्पन्न हुआ था, जहां हम अभी भी इसे जंगलों में पा सकते हैं। यह उगने के लिए गर्म क्षेत्रों को पसंद करता है और ठंड के लिए कम सहनशीलता रखता है। आजकल, बैंगन कई यूरोपीय और एशियाई देशों में उगाए जाते हैं। चीन सबसे बड़ा बैंगन उत्पादक देश है। तुर्की और भूमध्य सागर के आसपास के देश भी बड़े पैमाने पर बैंगन का उत्पादन करते हैं। विश्व एटलस के अनुसार, शीर्ष 5 बैंगन उत्पादक देश हैं:

  1. चीन
  2. भारत
  3. मिस्र
  4. तुर्की
  5. ईरान

बैंगन का वैज्ञानिक नाम सोलनम मेलॉन्गेना है और यह सोलानेसी कुल का सदस्य है। इस कुल में अन्य प्रसिद्ध सदस्य शामिल हैं, जैसे, टमाटर, आलू, मिर्च और तम्बाकू।

बैंगन में छोटे बालों वाला एक कड़ा तना होता है। किस्म के आधार पर पौधे की ऊंचाई 0.4 मीटर से 2.5 मीटर (1.3 से 8 फीट) तक होती है। इसकी जड़ें गहराई तक जाती हैं जो 0,6 से 1.2 मीटर (1.3 से 3.9 फीट) तक बढ़ती हैं। पत्तियां बड़ी और खंडदार होती हैं और 10-30 सेमी (4-12 इंच) लंबी होती हैं। इसके फूल सफेद से बैंगनी रंग के होते हैं और अकेले या 2-3 के गुच्छे में हो सकते हैं। इसे अपनी पांच पंखुड़ी वाले दलपुंज से जाना जाता है। इसका फल नरम भूरे रंग के बीजों वाला बड़ा बेरी है। बैंगन तीन मुख्य आकार में आते हैं: अंडाकार, आंसू के आकार का और गोल। इसके छिलके का रंग गहरा काला, गहरा बैंगनी, धारीदार काला या बैंगनी और सफेद हो सकता है। बैंगन का गूदा स्पंजी और सफेद होता है, जिसे कच्चा खाने पर इसमें थोड़ा कड़वा स्वाद आता है।

कच्चा बैंगन खाने से बचना चाहिए। इसके अलावा, बैंगन के फूल या पत्तियों का सेवन भी मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। सोलानेसी कुल के सदस्य सोलानिन नामक एक पदार्थ का उत्पादन करते हैं, जो पौधे के लिए प्राकृतिक कीटनाशक के रूप में कार्य करता है और इसका बड़ी मात्रा में सेवन करने पर यह जहरीला होता है।

बैंगन के बारे में 8 रोचक तथ्य जिसे आपने शायद अनदेखा कर दिया होगा

बैंगन के औषधीय गुण – बैंगन के फायदे

अपने बगीचे में बैंगन उगाते समय ध्यान रखने योग्य 8 चीजें

मुनाफे के लिए खेतों में बैंगन उगाना – शुरू से अंत तक बैंगन की खेती के लिए संपूर्ण मार्गदर्शक

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية Türkçe 简体中文 Русский Italiano Ελληνικά Português Indonesia

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।