बकरियों को दुहना और दूध वाली बकरियों का प्रबंधन

बकरियों को दुहने का परिचय

जैसा कि ऊपर बताया गया है, एक औसत बकरी 1-1.5 वर्ष की आयु में बकरे के साथ संबंध बना सकती है (इस नियम के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण अपवाद मौजूद हैं)। बकरियां 5 महीने तक गर्भवती रहती हैं। बच्चों को जन्म देने के बाद, वो तुरंत दूध देना शुरू करती है, लेकिन पहले 1-2 सप्ताह तक हमें उसे नहीं दुहना चाहिए (अपनी नस्ल की विशेषताओं के बारे में अपने विक्रेता और अपने पशु चिकित्सक से पूछें)। इसका कारण यह है कि नवजात बच्चों को इस प्रकार के दूध की बहुत ज्यादा जरुरत होती है, जो अक्सर मनुष्यों के लिए उपयुक्त नहीं होता है। 2 सप्ताह बाद, हम 9-10 महीने तक, दिन में दो बार (सुबह और शाम) बकरियों का दूध निकाल सकते हैं, और हमें उनका दूध निकाल लेना चाहिए नहीं तो उनका स्वास्थ्य खतरे में पड़ सकता है। सभी बकरियों को दोबारा संबंध बनाने से कम से कम 2 महीने पहले दूध देना बंद कर देना चाहिए।

हम हाथ से या दूध निकालने वाली मशीन (लागत $200-700) की मदद से अपनी बकरी को दुह सकते हैं। दोनों मामलों में, साफ-सफाई और स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण है। सबसे पहले हमें दूध की बाल्टी को उबलते हुए पानी से कीटाणुमुक्त करना चाहिए। इसके बाद, हमें बकरी को दूध निकालने वाले स्टैंड पर रखना पड़ता है, और उसके सिर को हल्के से बंद करके और उनके पिछले पैरों को रोककर (यदि आपकी बकरी शांत है तो इसकी जरुरत नहीं होती) उसे गतिहीन करना पड़ता है। कई किसान बकरियों का ध्यान भटकाने के लिए और उन्हें व्यस्त रखने के लिए दूध दुहते समय उन्हें खाने के लिए अनाज देते हैं। इसके बाद हमें बकरी के थन और चूची को गर्म पानी से धो लेना चाहिए। इससे ना केवल बकरी का थन साफ होता है, बल्कि इसे आराम भी मिलता है। इसके बाद हम थन को सूखे और साफ पेपर टॉवल से पोंछ देते हैं और दूध दुहना शुरू करते हैं।

हाथ से दूध दुहने की प्रक्रिया को बकरियों की चूची को नीचे खींचने के गलत तरीके से जोड़ा जाता है। क्योंकि इन्हें खींचने से निश्चित रूप से बकरी को चोट पहुँच सकती है। इसके बजाय, आमतौर पर अंगूठे और तर्जनी उंगली से थन को पकड़कर दबाना सही प्रक्रिया होती है। पहली बार दूध दुहते समय (हाथ से) आपको प्रत्येक बकरी पर औसतन 10-15 मिनट समय देना पड़ता है। हालाँकि, कुछ सप्ताह के अनुभव के बाद, आप प्रत्येक बकरी को 5 मिनट (औसतन) में दुह सकते हैं। दूध दुहना बंद करने पर, हमें दोबारा पानी, साबुन और विशेष घोलों से उसके थन को साफ करना चाहिए। कई किसान दूध दुहने के बाद बकरियों के थन को विशेष कीटाणुनाशक घोलों में डूबा देते हैं, लेकिन इसके बारे में ज्यादा निर्देश पाने के लिए आपको अपने स्थानीय लाइसेंस-प्राप्त पशु-चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

यदि आपने मशीन के प्रयोग से दूध दुहने का फैसला किया है तो प्रत्येक बार दूध दुहने से पहले और इसके बाद आपको निर्माता के निर्देशों के अनुसार मशीन के सभी हिस्सों को उचित क्लीनर की सहायता से अच्छी तरह साफ करना चाहिए। ज्यादातर दूध निकालने वाली मशीनों में मिल्किंग क्लॉ, पंप और दूध की बाल्टी होती है। याद रखें, मशीन से दूध दुहते समय हमें दूध की पहली और अंतिम बूंदों को कई कारणों (यह देखने के लिए कि दूध में खून तो नहीं है) से हाथ से निकालना चाहिए। मशीन चालू करने पर, दूध क्लॉ के माध्यम से निकलकर नलियों में जाता है और अंत में बाल्टी में गिरता है। दूध दुहना समाप्त होने पर, हम मिल्किंग क्लॉ निकाल देते हैं और हाथ से दूध दुहने के समान – बकरी के थनों को कीटाणुरोधी घोल में डूबा सकते हैं।

कृपया इस बात को ध्यान में रखें कि दुहने के बाद अक्सर बकरियों के शरीर में पानी की कमी हो जाती है, इसलिए हमें दूध निकालने के बाद उन्हें ताज़ा पानी और घास खाने के लिए देना चाहिए। नियमानुसार, हम दूध दुहने के तुरंत बाद दूध को फ्रिज में रख देते हैं। वैकल्पिक रूप से, हम इसे पास्चुरीकृत करके बाद में भी ठंडा कर सकते हैं।

आप अपनी बकरी दुहने की विधियों और तरीकों के बारे में टिप्पणी करके या तस्वीर प्रदान करके इस लेख को ज्यादा बेहतर बना सकते हैं।

बकरी पालन कैसे करें

बकरियों को रखना – बकरी के बाड़े का निर्माण

दूध या मांस के लिए बकरियों का चुनाव कैसे करें

बकरे को क्या खिलाना चाहिए

बकरियों को दुहना और दूध वाली बकरियों का प्रबंधन

बकरियों का ध्यान रखना

बकरियों के खाद का उत्पादन और अपशिष्ट प्रबंधन

बकरियों से संबंधित प्रश्न और उत्तर

क्या आपको बकरी पालन का अनुभव है? यदि हाँ तो कृपया नीचे टिप्पणियों में अपने अनुभव, विधियों और कार्यप्रणालियों के बारे में बताएं।

आपके द्वारा जोड़ी गयी सभी सामग्रियों को जल्दी से जल्दी हमारे कृषि विशेषज्ञों द्वारा जांचा जायेगा। और स्वीकृत होने के बाद, उन्हें Wikifarmer.com पर डाल दिया जायेगा, जिससे दुनिया भर के हज़ारों नए और अनुभवी किसान सकारात्मक रूप से प्रभावित होंगे।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية Türkçe 简体中文 Русский Italiano Ελληνικά Português Tiếng Việt Indonesia 한국어

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।