टमाटर के पौधे की जानकारी

टमाटर का वैज्ञानिक नाम सोलनम लाइकोपर्सिकम है और यह सोलेनेसी कुल का सदस्य है। इस कुल में आलू, मिर्ची आदि जैसी दूसरी आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली सब्जियां भी शामिल हैं। यह एक बारहमासी पौधा है, हालाँकि अधिकांश उत्पादक इसे वार्षिक रूप में उगाते हैं।

टमाटर का पौधा द्विबीजदली और घास वाला पौधा होता है। इसके पौधे में जड़ों का एक गुच्छा बनता है जो 2 मीटर (6,6 फीट) की गहराई तक बढ़ता है। इसमें लताएं होती हैं, जो शाखाओं के तने के रूप में बढ़ती हैं। सबसे ऊपर, एक अंतस्थ कलिका होती है। जब यह कलिका बढ़नी बंद हो जाती है तो पौधे को परिधीय कलिकाएं और इसके बाद नयी लताएं विकसित करने का संकेत मिलता है। टमाटर की पत्तियां आमतौर पर संयुक्त प्रकार की होती हैं; हालाँकि, कुछ किस्मों में डंठल के दोनों तरफ 5-7 पत्तियों वाली, 10-25 सेमी (4 -10 इंच) लम्बी सरल पत्तियां भी पायी जाती हैं। लताएं और पत्तियां दोनों छोटे-छोटे रेशे से ढंकती होती हैं।

इसके फूल पीले रंग के होते हैं, जिसमें दलपुंज पर पांच पंखुड़ियां होती हैं। इनका व्यास 1-2 सेमी (0,4-0,8 इंच) होता है और ये एपिकल मेरिस्टेम पर उगते हैं। इसके फल छोटे, अंडाकार से लेकर गोल, चपटे आकार के बेरी होते हैं, जिसमें गेरूआ रंग के बीज आते हैं।

दुनिया भर में 9.000 से ज्यादा टमाटर की किस्मों की खेती की जाती है। इन किस्मों को उनकी वृद्धि के आधार पर तीन प्रमुख श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है। विकास की तीन श्रेणियां हैं:

अनिश्चित – इस श्रेणी में, वो किस्में आती हैं जो निरंतर बढ़ती हैं। इन पौधों में उनके पुष्पक्रम के बीच पत्तियों की संख्या काफी स्थिर होती है। हम इन किस्मों की खेती मुख्य रूप से घर में करते हैं। बाहर उगाने पर उन्हें खूंटे से सहारा देने की ज़रूरत पड़ती है।

अर्ध-अनिश्चित – इस श्रेणी में, वो किस्में आती हैं जिनकी टहनियां एक उन्नत चरण पर आकर बढ़ना बंद हो जाती हैं। यह श्रेणी को विशेष रूप से बाहर खेती करने के लिए पसंद किया जाता है।

निश्चित – इस श्रेणी में, वे किस्में आती हैं जिनके टहनियां एक निश्चित संख्या में फूल (विविधता के आधार पर) देने के बाद अपने पार्श्व विकास को रोक देती हैं।

जंगली टमाटर की किस्में छोटी और लाल के बजाय, ज्यादातर पीली होती थीं। हम कह सकते हैं कि वो आज के चेरी टमाटरों की तरह होती थीं। आजकल, विभिन्न आकारों के अलावा, हम विभिन्न रंगों में भी टमाटर पा सकते हैं, जो हमारे चिर-परिचित लाल से लेकर गुलाबी, पीले, नारंगी, बैंगनी, सफेद और काले रंग के हो सकते हैं।

टमाटर से जुड़े रोचक तथ्य

टमाटर के पोषक तत्वों से जुड़े तथ्य

टमाटर के पौधे की जानकारी

अपने बगीचे में आसानी से टमाटर कैसे उगाएं

टमाटर की खेती की तकनीकें – टमाटर की खेती के लिए मार्गदर्शक

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français Deutsch Nederlands العربية Türkçe 简体中文 Русский Italiano Português

हमारे साझेदार

हमने दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर हमारे आम लक्ष्य - संधारणीयता और मानव कल्याण - को पूरा करने की ठानी है।