घोड़ों का स्वास्थ्य, सुरक्षा और देखभाल

घोड़ों का ध्यान कैसे रखें

चूँकि, हमने घोड़े पालने का फैसला किया है इसलिए एक व्यवस्थित और साफ़-सुथरी जगह का होना आवश्यक है, जहाँ हम अपने पशुओं के लिए कुछ दवायें और स्वास्थ्य उपचार किट रखते हैं। आज नहीं तो कल, हमें निश्चित रूप से उन उत्पादों की जरुरत पड़ेगी, और बीच रात में अपने तड़पते हुए घोड़े को छोड़कर विशेष दवाखाना खोजना कोई अच्छा विकल्प नहीं है। किसी भी मामले में, आपके पास हमेशा अपने नजदीक स्थित लाइसेंस प्राप्त पशु-चिकित्सक का टेलीफोन नंबर मौजूद होना चाहिए। यदि पशु-चिकित्सक हमारे स्थान पर नहीं आ सकता, केवल तभी हमें उसके मार्गदर्शन के साथ उनमें से किसी भी चीज का प्रयोग करना चाहिए, विशेष रूप से सुई का।

सर्वप्रथम, हमारे पास एक सूखी और साफ अलमारी होनी चाहिए, जहाँ चिकित्सा सहायक किट और दवाओं को रखा जायेगा। दूसरा, हमें एक फ्रिज की जरुरत होती है, जहाँ कुछ विशेष दवाओं को रखा जायेगा।

पॉविडोन-आयोडीन, विभिन्न आकार की पट्टियां, विभिन्न प्रकार के दर्दनाशक, हाइड्रोजन के पेरोक्साइड, पेनिसिलिन और कोर्टीसोन वे उत्पाद हैं जिन्हें चोट या बीमारी की स्थिति में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है। हमें अपने स्थान पर घोड़ों को लाने से पहले उन उत्पादों की सूची बनाने के लिए पशु चिकित्सक से परामर्श ले लेना चाहिए जिन्हें हमें खरीदना है। यदि हमारे घोड़े को आपातकालीन स्थिति में पशु अस्पताल ले जाने की जरुरत पड़ती है तो इस स्थिति के लिए हमें अपने क्षेत्र में स्थित 2-3 वैध घोड़े ढोने वाले एजेंटों के बारे में भी पता करना होगा।

इसके अलावा, हमें नियमित रूप से अपने घोड़ों के स्वास्थ्य की जांच करनी चाहिए। घोड़ों में होने वाली सबसे आम असामान्य स्थितियों में कब्ज, पेट दर्द और पानी की कमी शामिल हैं। कब्ज की स्थिति में घोड़ा मल-त्याग नहीं कर पाता है। ज्यादा समय तक रहने पर, कब्ज की वजह से बहुत ज्यादा स्वास्थ्य समस्याएं हो जाएँगी। आमतौर पर, घोड़े दिन में कई बार मल-त्याग करते हैं। यदि हम देखते हैं कि हमारे किसी घोड़े ने कुछ घंटों से मल त्याग नहीं किया है तो हम तुरंत इसकी जांच कर सकते हैं कि वो कब्ज से पीड़ित है या नहीं। आमतौर पर, जब कोई अपने कान को स्वस्थ घोड़े के पेट के पास रखता है तो उसे पाचन प्रक्रिया सुनाई देगी जो एक छोटे कारखाने के समान आवाज़ करती है। इसलिए, यदि हमारे घोड़े ने दिन में सामान्य तरीके से खाया है, और मल-त्याग नहीं किया और हम पाचन की आवाज़ नहीं सुन पाते हैं तो हमें तुरंत पशु चिकित्सक को बुलाना चाहिए। घोड़ों के रोगों के अन्य सामान्य लक्षण हैं: खड़ा ना हो पाना, पूरे दिन सोना और कुछ घंटे तक कुछ ना खाना-पीना। सामान्य तौर पर, घोड़ों को उचित समय अंतराल पर और आपातकाल के दौरान (जैसे स्थानीय महामारी) लाइसेंस प्राप्त पशु चिकित्सक से टीका लगवाना चाहिए और कीड़े बाहर निकालने चाहिए। टीकाकरण पर और अधिक पढ़ें। 

हमें अपने घोड़ों की साफ-सफाई पर भी ध्यान देना चाहिए। घोड़े को तैयार करना एक आवश्यक प्रक्रिया है जो उसकी त्वचा के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है और साथ ही घोड़े और इंसान के रिश्ते को मजबूत बनाता है। विशेष दुकानों में आपको घोड़े को संवारने के उपकरण (कंघी आदि) मिल सकते हैं। संवारने की आवृत्ति के संबंध में कोई नियम नहीं है। कुछ मालिकों को अपने घोड़ों को प्रतिदिन तैयार करना अच्छा लगता है, जिससे उन्हें उनसे संवाद करने का मौका मिलता है। अन्य मालिक अपने घोड़ों को हफ्ते में एक बार संवारते हैं। इसके अलावा, गर्म स्थानों में, अपने घोड़ों को विशेष शैम्पू की मदद से हफ्ते में एक बार नहलाना लाभदायक होता है।

जब घोड़े बूढ़े होते हैं तो उनके दांत स्वाभाविक रूप से असमान उगने लगते हैं। यदि उन्हें अपने हाल पर छोड़ दिया जाता है तो दांत की खराब स्थिति की वजह से बूढ़े घोड़ों को आमतौर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसके फलस्वरूप, आपको ऐसे विशेषज्ञ को नियुक्त करने की सलाह दी जाती है, जो साल में कम से कम एक बार घोड़े के दांतों की जांच कर सके और उचित समायोजन कर सके।

संक्रमण से बचने के लिए घोड़े के मालिकों को इसके खुरों की भी काट-छांट करनी चाहिए (हुक ट्रिमर से)। हमें हर 2-3 दिन पर उनके खुरों की जांच करनी चाहिए, लेकिन इन्हें सामान्य तौर पर हर 4-5 हफ्ते में काटा जाता है। घोड़ों के लिए विशेष जूते उपलब्ध होते हैं जो उन्हें विभिन्न संक्रमणों से बचाते हुए चलने में मदद करते हैं। आप प्रत्येक घोड़े के लिए उपयुक्त जूते पाने के लिए अपने पशु चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं।

घोड़े अक्सर मक्खियों और विभिन्न कीड़ों से परेशान रहते हैं, जो घोड़ों के आँख के आसपास मंडराते रहते हैं। विशेष दुकानों में आपको विभिन्न रंगों और आकारों के फ्लाई मास्क मिल सकते हैं। फ्लाई मास्क पहनने से घोड़े अच्छे से देख पाते हैं और उनके चेहरे एवं आँखों को पर्याप्त सुरक्षा मिलती है।

आप अपने घोड़े के देखभाल के तरीके और तकनीकों के बारे में टिप्पणी या तस्वीर प्रदान करके इस लेख को ज्यादा बेहतर बना सकते हैं।

घोड़ा पालन का परिचय

घोड़ों को कैसे रखें और उनके स्थान का निर्माण कैसे करें

घोड़े का चुनाव करना

घोड़े को चारा कैसे खिलाएं – घोड़े का भोजन

घोड़ों का स्वास्थ्य, सुरक्षा और देखभाल

घोड़े का अपशिष्ट और खाद प्रबंधन

घोड़ों से संबंधित प्रश्न और उत्तर

क्या आपको घोड़े पालने का अनुभव है? यदि हाँ तो कृपया नीचे टिप्पणियों में अपने अनुभव, विधियों और कार्यप्रणालियों के बारे में बताएं।

आपके द्वारा जोड़ी गयी सभी सामग्रियों को जल्दी से जल्दी हमारे कृषि विशेषज्ञों द्वारा जांचा जायेगा। और स्वीकृत होने के बाद, उन्हें Wikifarmer.com पर डाल दिया जायेगा, जिससे दुनिया भर के हज़ारों नए और अनुभवी किसान सकारात्मक रूप से प्रभावित होंगे।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: enEnglish esEspañol frFrançais arالعربية pt-brPortuguês deDeutsch ruРусский elΕλληνικα trTürkçe viTiếng Việt idIndonesia

Wikifarmer की संपादकीय टीम
Wikifarmer की संपादकीय टीम

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

FOLLOW US ON