घर पर पेटूनिया कैसे उगाएं – पेटूनिया की देखभाल

अगर आप घर पर पेटूनिया उगाने की सोच रहे हैं तो आप इन आसान चरणों का पालन कर सकते हैं।

बीज से पेटूनिया उगाएं

पहली विधि है, बीज से पेटूनिया उगाना। अगर आप यह विधि अपनाना चाहते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि किसी वैध विक्रेता से प्रमाणित बीज और फूल के लिए मिट्टी का मिश्रण खरीदना जरूरी होता है। आप सर्दियों के अंत में या वसंत की शुरुआत में पेटूनिया के बीज लगा सकते हैं, जब बहुत कम तापमान और ठंड खत्म हो जाती है।

उन्हें गमले या हैंगिंग बास्केट में लगाने से पहले, इस बात का ध्यान रखें कि गमलों के नीचे छेद हो। पानी की खराब निकासी की वजह से बीजों या छोटे पौधों को सड़ने से बचाने के लिए यह चरण महत्वपूर्ण होता है। ज्यादा बेहतर जल निकास और वायु संचार के लिए गमले में नीचे प्यूमिस, पर्लाइट या बजरी डालकर उसके ऊपर मिट्टी डालना बेहतर होता है।

बजरी के ठीक ऊपर मिट्टी होती है और इसके बाद बीज की बारी आती है। अपनी पसंद और पेटूनिया के प्रकार के आधार पर, आप हर गमले में दो या दो से ज्यादा बीज डाल सकते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि आमतौर पर ग्रैंडिफ़्लोरा को फैलने के लिए ज्यादा जगह की जरूरत होती है। हम बीजों को मिट्टी में अंदर घुसाने के बजाय, सतह पर छोड़ सकते हैं।

पौधे की वृद्धि के शुरूआती चरणों के दौरान, मिट्टी हमेशा नम होनी चाहिए, लेकिन बिल्कुल गीली नहीं होनी चाहिए, ताकि बीज अंकुरित हो सकें। हालाँकि, सड़ने से बचाने के लिए इसकी बहुत अधिक सिंचाई न करें।

पेटूनिया के बीजों को अंकुरित होने के लिए प्रकाश की आवश्यकता होती है, इसलिए आप धूप वाली जगह की तलाश कर सकते हैं। बुवाई के 2-3 सप्ताह बाद, कुछ छोटे पौधे दिखाई देंगे।

कलम से पेटूनिया उगाना

कलम से पेटूनिया उगाना सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला तरीका है। दरअसल, यह विधि बहुत तेज होती है और सबसे ज्यादा किफायती भी। आप कुछ आसान चरणों का पालन करके आसानी से कलम से पेटूनिया उगा सकते हैं।

सबसे पहले, आप मूल पौधे के रूप में किसी सुंदर स्वस्थ पेटूनिया का चुनाव कर सकते हैं। हम 4 इंच (10 सेंटीमीटर) की लंबाई वाली किसी छोटी (बिना लकड़ी वाली) कोंपल को काट सकते हैं। इसके बाद, हम कलम के नीचे के ⅔ हिस्से की सभी पत्तियों को हटा सकते हैं।

मिट्टी में कलम लगाने से पहले, आपको इसकी जड़ निकलने में मदद करनी होगी। ऐसा करने के लिए, आमतौर पर कलम को पानी के एक गिलास में रखने की जरूरत होती है, जिसमें पौधे के आधे भाग तक पानी रहता है। आमतौर पर, कुछ दिन बाद जड़ें निकलने लगती हैं। जड़ निकलने की गति बढ़ाने के लिए, आप आईएए जैसे रूटिंग हार्मोन के प्रयोग पर विचार कर सकते हैं, जो निश्चित रूप से आवश्यक नहीं है। इसके बाद जड़ वाली कलम को फूलों वाले मिट्टी के मिश्रण और उचित वायु संचार के लिए पर्लाइट या बजरी के साथ गमले में लगाने की जरूरत होती है।

कई उत्पादक दावा करते हैं कि सूरज की रोशनी पेटूनिया को गहरे रंग के फूल बनाती है। यही कारण है कि वे कलम को धूप वाली जगहों पर रखते हैं। इसके अलावा, अपने पौधों को सुंदर फूलों का उत्पादन करने में मदद करने के लिए, आमतौर पर पुराने फूलों (सूखे हुए) को हटा दिया जाता है। इस तरह से पौधे के नए फूलों को ज्यादा पोषक तत्व मिलते हैं।

पेटूनिया का पौधा खरीदें

अंत में, अगर आप बीज या कलम से पेटूनिया लगाने की नहीं सोच रहे, लेकिन फिर भी इन शानदार फूलों का आनंद उठाना चाहते हैं तो आप अपने स्थानीय गार्डन शॉप से पेटूनिया का पौधा (लगभग 8 सप्ताह का) खरीद सकते हैं। इस चरण पर, पेटूनिया के पौधे दूसरे गमले में लगाने के लिए तैयार होते हैं।

उचित वायु संचार के लिए गमले या हैंगिंग बास्केट में प्यूमिस, पर्लाइट या बजरी के बाद मिट्टी डालना एक सामान्य तकनीक है। एक बार फिर, आपके गमले के नीचे छेद होना जरूरी है।

आप गमले के ¾ हिस्से तक मिट्टी डाल सकते हैं और पौधे के साथ पहले से लगी हुई मिट्टी को हटाए बिना इसे गमले में रोप सकते हैं। इसके बाद, आप गमले को ऊपर तक भरकर मिट्टी को हल्के हाथों से दबा सकते हैं। किस्म और मौसम की स्थितियों के आधार पर, हर हफ्ते 1 से 5 बार सिंचाई करने की जरूरत पड़ सकती है। आमतौर पर, मिट्टी में हमेशा नमी होनी चाहिए, लेकिन यह बहुत ज्यादा गीला नहीं होना चाहिए।

पेटूनिया की देखभाल कैसे करें

पेटूनिया की जलवायु संबंधी आवश्यकताएं

उचित विकास के लिए पेटूनिया को हर दिन बहुत देर तक सूरज की रोशनी की जरूरत होती है (हर दिन 6-8 घंटे)। आमतौर पर, छाया की वजह से पौधों में कम फूल आते हैं। कम धूप में खिलने वाले पौधों की गुणवत्ता भी कम होती है। ज्यादातर मामलों में, इन पौधों को गर्म और औसत शुष्क जलवायु और धूप वाली गर्मियां पसंद होती हैं। बारिश से पेटूनिया के कोमल फूल खराब हो सकते हैं। इसके पौधे को 65-75 °F  (17-23 °C) का औसत तापमान पसंद होता है। पेटूनिया मूल से रूप से दक्षिण अमेरिका से है, जहाँ गर्मियों के दौरान औसत तापमान 59-86 °F (15-30 °C) होता है और सर्दियों में बहुत कम ही 32 °F (0°C) के नीचे जाता है। हालाँकि, ये पौधे 95 °F ( 35 °C) तक और 32 °F (0 °C) के करीब तक तापमान सहन कर सकते हैं।

पेटूनिया की मिट्टी संबंधी जरूरतें

आमतौर पर, पेटूनिया उगाते समय मिट्टी का प्रकार कोई प्रतिबंधी कारक नहीं होता है। ये पौधे औसत मिट्टी में अच्छी तरह विकसित हो सकते हैं। इन्हें धूप, अच्छी जलनिकासी वाली मिट्टी, थोड़ी अम्लता (6-7 पीएच स्तर) पसंद है। कुछ पेशेवर उत्पादक दावा करते हैं कि वो पेटूनिया को 5,5 से 6 पीएच वाली मिट्टी में उगाते हैं ताकि पौधों में तेज गहरे रंग आ सकें।

पेटूनिया की पानी संबंधी जरूरतें – पेटूनिया की सिंचाई

दूसरे पौधों की तरह, पेटूनिया को भी सूखी या ज्यादा गीली मिट्टी पसंद नहीं है। इसके बजाय, उन्हें हर समय थोड़ी नम मिट्टी अच्छी लगती है। मिट्टी को छूकर पेटूनिया की सिंचाई संबंधी जरूरत समझना एक अच्छी तकनीक है। आप अपने हाथ में मिट्टी का गोला बनाने की कोशिश कर सकते हैं। अगर गोला नहीं बन पाता और टूट जाता है तो इसमें पानी डालने का समय आ गया है।

आमतौर पर, ज्यादातर उत्पादक सप्ताह में 1 से 3 बार पेटूनिया में पानी डालते हैं। हालाँकि, इस बात का ध्यान रखें कि अगर आप बीज से पेटूनिया उगा रहे हैं तो आपको बीजों में से अंकुर निकलने में मदद करने के लिए ज्यादा पानी डालने की जरूरत पड़ सकती है।

पेटूनिया की खाद संबंधी जरूरतें

ज्यादातर उत्पादक महीने में एक बार नाइट्रोजन-फॉस्फोरस-पोटैशियम (10-10-10 12-12-12 या 15-15-15) का संतुलित तरल उर्वरक डालकर अपने बगीचे में पेटूनिया के तेजी से विकास में मदद करते हैं। हालाँकि, कुछ उत्पादक पेटूनिया के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किये गए धीमी गति से निकलने वाले दानेदार उर्वरक का प्रयोग करना पसंद करते हैं।

पौधे से सूखे फूल हटाना (डेडहेडिंग)।

हर समय पेटूनिया के फूलों का आनंद उठाने के लिए कई पेटूनिया उत्पादक पौधे से मरे हुए फूलों को हटाने की प्रक्रिया (डेडहेडिंग) का प्रयोग करते हैं। पौधों से सूखे फूल हटाने से हमारा मतलब, पेटूनिया खिलने के मौसम में, खिले हुए फूलों की कटाई करना या बीज वाले हरे कोशों को हटाना होता है। अगर हम पूरे खिले हुए फूलों या अक्सर पौधों के पीछे स्थित हरे कोशों को नहीं हटाते तो पौधा बीज का उत्पादन करने के लिए अपनी ज्यादातर ऊर्जा उन्हें देना शुरू कर देगा, और फूल खिलाना बंद कर देगा।

यह सरल तकनीक पेटूनिया के खिलने का समय बढ़ाएगी, और साथ ही साथ ज्यादा बड़े और सुंदर फूल देगी।

पेटूनिया के कीड़े 

पेटूनिया से जुड़ी सामान्य समस्याएं

  • कैटरपिलर

कैटरपिलर को नंगी आँखों से आसानी से देखा जा सकता है। वे 2 से 6 हफ्ते तक ज़िंदा रह सकते हैं और वसंत की शुरुआत में पेटूनिया पर हमला शुरू करते हैं। वे पत्तियों को चबाकर इसे आसानी से नुकसान पहुंचा सकते हैं।

  • घुन

घुन छोटे कीड़े होते हैं जो सूक्ष्म मकड़ियों की तरह दिखते हैं। वसंत ऋतु में, वयस्क घुन पत्तियों पर जाते हैं और उनके कोषों से क्लोरोफिल चूस लेते हैं। घुन संक्रमण के लक्षणों में मुड़ी हुई और बेरंग पत्तियों वाले अस्वस्थ पौधे शामिल हैं। कुछ उत्पादक रोकथाम और दमन के उपायों के रूप में तेल का उपयोग करते हैं। आप अपने स्थानीय लाइसेंसधारी कृषि विज्ञानी से परामर्श कर सकते हैं।

यह लेख निम्नलिखित भाषाओं में भी उपलब्ध है: English Español Français العربية Português Deutsch Русский Ελληνικά Türkçe Indonesia

Wikifarmer की संपादकीय टीम
Wikifarmer की संपादकीय टीम

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

Follow Us

Wikifarmer सबसे बड़ा ऑनलाइन कृषि पुस्तकालय है जो इसके प्रयोगकर्ताओं द्वारा निर्मित और अपडेट किया जाता है। यहाँ आप नया लेख जमा कर सकते हैं, पहले से मौजूद लेख को संपादित कर सकते हैं, छवियां और वीडियो जोड़ सकते हैं या सैकड़ों आधुनिक कृषि विकास मार्गदर्शकों की मुफ्त उपलब्धता का आनंद उठा सकते हैं। इस वेबसाइट पर प्रदान की जाने वाली किसी भी जानकारी के प्रयोग, मूल्यांकन, आकलन और उपयोगिता के संबंध में सारा उत्तरदायित्व प्रयोगकर्ता का होता है।

FOLLOW US ON